(
एक लेन्स के समाने रखी किसी वस्तु का प्रतिबिम्ब उसी लेन्स र
वस्तु की अपेक्षा तीन गुनी दूरी पर बनता है। प्रतिबिम्ब क

(
एक लेन्स के समाने रखी किसी वस्तु का प्रतिबिम्ब उसी लेन्स र
वस्तु की अपेक्षा तीन गुनी दूरी पर बनता है। प्रतिबिम्ब क
आवर्धन है:
(1) 1
(ii) 2
(ii)3
(iv) 4.​

1 thought on “(<br />एक लेन्स के समाने रखी किसी वस्तु का प्रतिबिम्ब उसी लेन्स र<br />वस्तु की अपेक्षा तीन गुनी दूरी पर बनता है। प्रतिबिम्ब क<br”

Leave a Comment